Home मिडिल ईस्ट ऑपरेशन ओलिव पर तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान करेंगे ट्रम्प से वार्ता

ऑपरेशन ओलिव पर तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान करेंगे ट्रम्प से वार्ता

विदेश मंत्री मेवलुत का कहना है की “तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान बुधवार को अपने अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रम्प के साथ एक फ़ोन कॉल पर बात करेंगे, फ़ोन पर होने वाली इस वार्ता में दोनों नेता दाईस आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन ओलिव के बारे में चर्चा करेंगे.”

पीकेके आतंकवादी समूह के सीरियाई सहयोगी डेमोक्रेटिक यूनियन पार्टी (पीवाईडी) और इसके आर्म्ड विंग्स पीपल प्रोटेक्शन यूनिट को संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा समर्थित, साथ ही तुर्की पर अफरीन क्षेत्र में दाईस को लक्षित करने के लिए ऑपरेशन ऑलिव ब्रांच का शुभारंभ किया गया.

तुर्की जनरल स्टाफ के अनुसार, ऑपरेशन का उद्देश्य तुर्की सीमाओं और क्षेत्र के साथ सुरक्षा और स्थिरता स्थापित करना है और साथ ही आतंकवादियों के उत्पीड़न और क्रूरता से सीरियाई लोगों की रक्षा करना है.

इस अभियान को अंतर्राष्ट्रीय कानून, यू.एन. सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के आधार पर तुर्की के अधिकारों के ढांचे के तहत किया जा रहा है, यह यू.एन. चार्टर और सीरिया के क्षेत्रीय अखंडता के प्रति सम्मान के तहत आत्मरक्षा का अधिकार है.

अफरीन में ऑपरेशन की – उत्तरी सीरिया में तुर्की के हटे और किल्स प्रांतों की सीमा में तुर्की के ऑपरेशन यूफ्रेट्स शील्ड की उम्मीद की गयी थी, जिसने 2016 और मार्च 2017 के बीच तुर्की की सीमा से दाईस आतंकवादियों को मंजूरी दे दी थी.

अफरीन जुलाई 2012 से पीवाईडी / पीकेके के लिए एक बड़ा ठिकाने का केंद्र रहा है जब सीरिया में असद शासन ने बिना किसी युद्ध के शहर को आतंकवादियों के हवालेर छोड़ दिया था.