Home मिडिल ईस्ट तुर्की राष्ट्रपति एर्दोगोन की हत्या की साजिश नाकाम, 9 आतंकी गिरफ्तार

तुर्की राष्ट्रपति एर्दोगोन की हत्या की साजिश नाकाम, 9 आतंकी गिरफ्तार

source- times headlines

world news Arabia published date 19-December-2017 Time: 13:41

updated : 15:20

एथेंस- तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान के अच्छे कार्यों व व्यवहार की वजह से जनता का एर्दोगान पर भरोसा बना हुआ है, उनकी छवि जनता के सामने निखर कर आ रही है, सभी लोग उन पर भरोसा कर रहे हैं और जब भी इतिहास में कोई अच्छा नेतृत्व करने वाला लीडर जनता के सामना आता है तो उन्हें खत्म करने की साजिश बनाने वाले भी कई होते हैं.

एर्दोगान के खिलाफ साजिश बनाने वाले कुछ लोगों का मामला सामने आया है, ग्रीक के एक अखबार विमा की खबरों के मुताबिक क्रांतिकारी पीपुल्स लिबरेशन पार्टी-फ्रंट (डीएचकेपी-सी) के नौ सदस्यों ने रॉकेट लांचर, ग्रेनेड और मोलोटोव कॉकटेल के साथ तुर्की के प्रेजिडेंट तैय्यप एर्दोगान को मारने की योजना बनाई थी.

रिपोर्ट के मुताबिक इन सदस्यों की योजना में “दो ग्रुप के द्वारा एर्दोगान के रक्षक दल पर हमला करना व तीसरा ग्रुप एर्दोगान की गाडी पर हमला करना” शामिल था.

सुरक्षा बल अभी भी समूह के हथियारों का पता लगाने की कोशिश कर रहा है, जो कि इन आतंकवादियों ने एथेंस के पहाड़ों में छिपा के रखे हुए हैं.

इन सदस्यों को विभिन्न आतंकवादी दलों के साथ जुड़े होने के कारण 28 नवम्बर को गिरफ्तार कर लिया गया था, इन सदस्यों के द्वारा यह योजना उस दौरान बनायीं गई थी जब एर्दोगान ने 7-8 दिसम्बर को यूनान की राजधानी की यात्रा की योजना बनाई थी.

source- daily news

इस दल ने एक कागज पर हत्या करने कि साजिश का रेखांकित चित्र बनाया था, जिससे अधिकारीयों को पता चला की हत्या कब और कहाँ होगी?

ग्रीस की एंटी टेररिस्ट यूनिट ने 28 अक्टूबर को सेंट्रल एथेंस में स्थित एक अपार्टमेंट पर छापेमारी की थी, जिसमे डीएचकेपी-सी लिंक्स से पूछताछ करने के बाद इन नौ सदस्यों को हिरासत में लिया गया.
29 नवंबर को, ग्रीस में आतंकवाद से जुड़े सभी अपराधों के लिए डीएचकेपी-सी लिंक्स के एक महिला और आठ लोगों पर पर आरोप लगाया गया था.

4 दिसम्बर को इन आठो सदस्यों के लिए तुर्की कोर्ट ने गिरफ्तारी का आदेश दिया, 2013 में  DHKP-C के सदस्य बिबर और अन्य संदिग्धों ने तुर्किश इंटीरियर मिनिस्ट्री और डेवलपमेंट्स पार्टी के हेडक्वार्टर अंकारा में हमला किया था.

DHKP-C को 1990 से तुर्की में हमलों और आत्मघाती बम विस्फोट के लिए दोषी ठहराया गया है.