Home मिडिल ईस्ट फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने ट्रम्प के शांति प्रस्ताव को “सदी का थप्पड़” कहा

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने ट्रम्प के शांति प्रस्ताव को “सदी का थप्पड़” कहा

source: Al Arabiya

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के येरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने और मिडिल ईस्ट शांति प्रयासों को रविवार को “सदी का थप्पड़” बताते हुए ट्रम्प को दोषी ठहराया है.

अब्बास ने यह भी कहा कि इजरायल ने 1990 के दशक की ऐतिहासिक ओस्लो शांति समझौते को पूरी तरह से खत्म कर दिया है. वहीँ फ़िलिस्तीनियों का कहना है कि “ट्रम्प की सहायता राशि रोकने के बाद यरूशलेम बिक नहीं जाएगा.”

अब्बास ने फिलिस्तीनी नेताओं की एक महत्वपूर्ण बैठक की शुरुआत में कहा कि हमने ट्रम्प के फैसले के आने के तुरंत बाद ही यह कह दिया था कि हमें यह प्रस्ताव मंज़ूर नहीं है जिसके चलते पूरे दुनिया के मुसलमान फिलिस्तीन के समर्थन में आ गए थे.

” यह सदी का सौदा सदी का थप्पड़ है और हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे,” उन्होंने कहा, ट्रम्प अपने इस सौदे से फिलिस्तीन की शांति को खत्म करने की पूरी कोशिश में लगें है.

source: Al Arabiya

अब्बास की दो घंटों तक चलने वाले मैराथन भाषण में  उन्होंने कई अहम मुद्दों पर बातचीत की और सोमवार को होने वाली मीटिंग के उद्घाटन समारोह के लिए भी  अपनी टिप्पणी की.

ट्रम्प ने 6 दिसंबर 2017 में येरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने का एलान किया था. इस फैसले से फिलिस्तीनियों ने ट्रम्प के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन और नाराज़गी ज़ाहिर की थी. इसके बाद तुर्क्री और ईरान के ट्रम्प के प्रताव के खिलाफ यूनाइटेड नेशन में येरुशलम मुद्दे पर मतदान कराया था इसमें 128 देशों ने फिलिस्तीन के समर्थन में मतदान किया था जबकि सिर्फ 9 देशों ने अमेरिका के हित में मतदान किया था.

अब्बास ने यह भी कहा कि, “अमेरिका किसी भी तरह से मिडिल ईस्ट में शांति नहीं चाहता.”