Home एशिया लाहौर में हुआ कुद्स छात्र सम्मेलन का आयोजन, फिलिस्तीनी छात्रों ने रखी...

लाहौर में हुआ कुद्स छात्र सम्मेलन का आयोजन, फिलिस्तीनी छात्रों ने रखी मांग

लाहौर के एक होटल में कुद्स स्वतंत्रता छात्र सम्मेलन का आयोजन हुआ जिसमें फिलीस्तीनी छात्रों सहित पाकिस्तानी राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक हस्तियों और छात्रो के संगठनों ने भी शिरकत की।

कुद्स स्वतंत्रता छात्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि कुछ बाहरी शक्तियां फ़िलिस्तीन को भूलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और मुस्लिम जगत को आर्थिक और आतंकवाद के मुद्दों में व्यस्त रखकर इजरायल को सुरक्षा प्रदान करना चाहते हैं लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि अगर हम मुस्लिम जगत में शांति के इच्छुक हैं तो यह तब तक नहीं मिल सकता जब तक फ़िलिस्तीन की समस्या का गंभीरता से समाधान नहीं किया जाता। उन्होने अपने संबोधन मे आगे कहा कि मुस्लिम उम्मा को जागरूक होकर एकत्रित होना चाहिए और फिलिस्तीन में मुसलमानों के साथ होने वाले अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाना चाहिए।

कुद्स स्वतंत्रता सम्मेलन को राजनीतिक, धार्मिक दलों के मुख्य नेताओं ने संबोधित किया जिन मे तहरीक-ए-मिनहाजुल कुरआन से खुर्रम नवाज गुंडापुर, मुस्लिम लीग (क्यू) से कामिल अली आगा, पीटीआई से एजाज चौधरी, पीपीपी से अज़ीज़ चन और मजलिस-ए-वहदत-ए-मुस्लेमीन से अल्लामा अमीन शहीदी ने संबोधित किया।

संयुक्त छात्र मोर्चा कनवेनईर सैय्यद सरफराज नकवी ने फ़िलिस्तीन के मुद्दे को मुसलमानों में एकता का स्रोत करार देते हुए कहा कि यही कारण है कि विश्व साम्राज्यवादी और अंतर्राष्ट्रीय ज़ायोनिज़्म इस बात की कोशिश कर रही है कि यह समस्या, इस्लामी प्राथमिकताओ से समाप्त हो जाए।

खुर्रम नवाज गुंडापुर का कहना था कि दुनिया भर में इजरायल के नापाक इरादे विफल हो रहे हैं और जरूरत इस बात की है कि मुस्लिम जगत एकजुट हो और फ़िलिस्तीन की स्वतंत्रता के लिए साझा संघर्ष पर ध्यान केंद्रित करें।

पीटीआई के नेता एजाज चौधरी ने कहा कि फ़िलिस्तीन का मुद्दा सामान्य रूप में मानवता के लिए और विशेष रूप से इस्लाम के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, यह मुसलमानों के विश्वास का मामला है, कुद्स की स्वतंत्रता हर मुसलमान का धार्मिक और ईमानी कर्तव्य है। यरूश्लेम सहित अधिकृत फ़िलिस्तीन की स्वतंत्रता के लिए इस्लामी को एकजुट करके भरपूर जिहाद होना चाहिए। फ़िलिस्तीन को भूलाना और इजरायल को सुरक्षा प्रदान करने के लिए दुनिया भर में आतंकवाद को परवान चढ़ाया जा रहा है।

वक्ताओं ने कहा कि दुनिया भर की तरह पाकिस्तान में भी रमजान के पवित्र महीने के अंतिम शुक्रवार को विश्व कुद्स दिवस भरपूर अंदाज़ में मनाया जाए और जनता भरपूर अंदाज़ में भाग लेकर पीड़ित फिलीस्तीनीयो से एकजुटता और यहूदी इजरायल से घृणा व्यक्त करें। कुद्स स्वतंत्रता सम्मेलन के प्रतिभागीयो ने फिलीस्तीनी प्रतिरोध आंदोलन हमास, हिजबुल्लाह, जिहाद इस्लामी और पापुलर फ्रंट के समर्थन की घोषणा की और अपील की कि पाकिस्तान की जनता रमजान के अंतिम शुक्रवार को कुद्स दिवस भरपूर अंदाज़ में मनाएं। कुद्स स्वतंत्रता सम्मेलन के अंत में फिलिस्तीनियों के समर्थन और स्वतंत्रता संघर्ष जारी रखने की प्रतिबद्धता के लिए संयुक्त रूप से अनुबंध स्वीकृत किए गए।