Home मिडिल ईस्ट मिस्र के पूर्व मुफ़्ती शैख़ अली गूमा पर जानलेवा हमला

मिस्र के पूर्व मुफ़्ती शैख़ अली गूमा पर जानलेवा हमला

मिस्र के पूर्व ग्रैंड मुफ़्ती और इस्लामिक विद्वान शैख़ अली गूमा, जो की देश के शीर्ष धार्मिक अधिकारी भी रह चुके हैं, पर 6 अक्टूबर दिन शुक्रवार को मिस्र के शहर काहिरा में जानलेवा हमला हुआ.

लेकिन वह एक कहावत हैं कि “जिसको अल्लाह रखे उनको कौन चख्खे”. इस हमले के दौरान ग्रैंड मुफ़्ती अली गूमा का बाल भी बांका नहीं हुआ.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, जब अली गूमा नमाज़ अदा करने के लिए मस्जिद की तरफ रवाना हुए उसी दौरान दो बाइक सवार हमलावरों ने उनपर गोलिया चलायी, लेकिन एक भी गोली उनके शरीर को छु न सकी.

हलाकि उनके साथ मौजूद एक अंगरक्षक को चोट आयी. बताया जा रहा हैं कि हमले के बाद हमलवार भागने में कामयाब रहे.

इस हमले के बाद शैख़ अली गूमा ने एक न्यूज़ चैनल पर कहा कि, “अगर मैं मर जाता हूँ, तो यहाँ लाखो लोग हैं जो मेरी जगह ले सकते हैं. मैं मर जाऊंगा लेकिन मेरे उपदेश तो बाकि रहेंगे.” देश के एक हाई प्रोफाइल शख़्सियत पर हमला होने के बाद देश के गृह मंत्रालय ने जांच के आदेश दिए हैं.

वही देश और दुनिया की सर्वोच्च शिक्षा संस्था में से एक अल-अज़हर विश्वविद्यालय के मुफ़्ती शौकी अल्लम ने इस हमले की निंदा करते हुए इसको एक आपराधिक हमला बताया हैं और इसके लिए उग्रवाद और आतंकवाद को ज़िम्मेदार बताया हैं.

Key-Words: Egypt, Grand, Mufti, Shaikh Ali-Gooma, Attack, assassination