Home मिडिल ईस्ट तुर्की के साथ सौदा अरब देशों के लिए खतरा नहीं है :...

तुर्की के साथ सौदा अरब देशों के लिए खतरा नहीं है : सूडान

source-middle east monitor

सूडान ने कहा की “तुर्की के साथ किया हुआ सौदा अरब देशों की सुरक्षा को नुकसान नहीं पहुचायेगा”.

रियाद में स्थित सूडान एम्बेसी ने इस सप्ताह तुर्की के राष्ट्रपति की दो दिवसीय यात्रा में हुए समझौते के बाद सूडान एम्बेसी ने लिखित बयान जारी किया, जिसमे उन्होंने कहा की एर्दोगान की यात्रा के दौरान, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, उद्योग, कृषि उत्पादन, वन, शिक्षा, पर्यटन, व्यापार और अर्थव्यवस्था जैसे क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत करने के लिए दोनों देशों के बीच कई द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. सूडान भी सुकिन द्वीप के पुनर्निर्माण के लिए तुर्की के साथ समझौते के लिए सहमत हुए हैं.

यह बयान ओकाज़ पेपर द्वारा लिखी गयी एक खबर के बाद आया, जिसमे लिखा गया था की खारतूम ने अंकारा को सुकिन और सवाकिन बंदरगाह शहर दे दिए हैं.

अफ्रीका में सबसे पुराने बंदरगाहों में से एक, सुकिन का इस्तेमाल अफ्रीकी मुसलमानों द्वारा किया गया था जो सऊदी अरब में पवित्र शहर मक्का की तीर्थयात्रा के लिए इसे इस्तेमाल करते थे. तुर्क ने इस लाल सागर का इस्तेमाल कर  हमलावरों से हेजज प्रांत को सुरक्षित करने के लिए बंदरगाह शहर का इस्तेमाल किया था.

रियाद एम्बेसी के प्रेस अधिकारी अल-मूतज़ अहमद इब्राहिम ने ओकाज़ पेपर के दावों से इंकार कर कहा की यह दावे सूडानी अधिकारियों के अपमान के लिए किये गये हैं, और अन्य देशों के साथ सम्बन्ध विकसित करने के लिए किये गए हैं.

उन्होंने कहा की “सुकिन सूडान का है”.

अधिकारी ने यह भी कहा की “अरब सुरक्षा को बिना कोई नुकसान पहुंचाए, उनके देश के अन्य देशो के साथ शांति के रिश्ते हैं.

सूडान के विदेश मंत्री ने तुर्की के विदेश मंत्री के साथ एक सम्मेलन में कहा था की उनका देश सूडान का सुकिन द्वीप तुर्की के इन्वेस्टर्स को अस्थायी रूप से पट्टे पर देगी.