Home मिडिल ईस्ट दोहरी नीति अपना रहा अमेरिका, अब क़तर को दे रहा है लड़ाकू...

दोहरी नीति अपना रहा अमेरिका, अब क़तर को दे रहा है लड़ाकू विमान

क़तर-खाड़ी विवाद पर अमेरिका की नीति ढुलमुल ही रही है. अमेरिका अभी तक इस पर स्पष्ट प्रतिक्रिया देने से बचता रहा है. एक तरफ अमेरिकी अधिकारी इस मामले पर काफी संभल कर प्रतिक्रिया देते नज़र आये हैं तो वहीँ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प स्पष्ट शब्दों में क़तर पर आतंकवाद का साथ देने का आरोप लगाते रहे हैं. अमेरिका की इन मिश्रित प्रतिक्रियाओं के बीच अमेरिका द्वारा क़तर को लड़ाकू विमान बेचने की खबर सामने आई है.

दोहा और वाशिंगटन के बीच होने वाले इस समझौते में 8 ख़रब रुपये का एक सौदा किया गया है जिसके तहत अमेरिका क़तर को एफ-15 लड़ाकू विमान बेचेगा. कयास लगाये जा रहे हैं कि इस सौदे की राशि बढ़ भी सकती है. गौरतलब है कि हाल ही में डोनाल्ड ट्रम्प ने सऊदी अरब की यात्रा की थी और इस यात्रा के तुरंत बाद अमेरिका और सऊदी अरब के बीच 110 बिलियन डॉलर का हथियारों का सौदा भी हुआ था.

बुधवार को वाशिंगटन में क़तर के रक्षा मंत्री खालिद अल अतियाह और अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस के बीच ये समझौता हुआ. इस रक्षा सौदे को कतर ने अमेरिका के साथ अपने सामरिक और रक्षा सहयोग का विस्तार बताया. रक्षा मंत्री अतियाह ने यह भी कहा कि कतर अमेरिका के साथ अपना साझा सैन्य कार्यक्रम जारी रखना चाहता है. कतर में अमेरिका का एक सैन्य अड्डा है, जो कि पूरे मध्यपूर्वी एशिया में US का सबसे बड़ा मिलिटरी अड्डा है.