Home मिडिल ईस्ट इन देशों के बच्चों की बद से बदतर हालत, 50 मिलियन झूंझ...

इन देशों के बच्चों की बद से बदतर हालत, 50 मिलियन झूंझ रहे है संघर्ष और आपदा से : UN

source: Middle East Eye

दुनिया में चार बच्चों में से हर एक बच्चा संघर्ष और आपदा से प्रभावित देश में रह रहा हैं, इस बात की चेतावनी UN ने मंगलवार को दी.

2018 में बच्चों के लिए मानवीय कार्रवाई की एक रिपोर्ट में UN चिल्ड्रन्स फंड ने खुलासा किया कि 51 देशों में हिंसा, प्राकृतिक आपदा और गरीबी के कारण 50 मिलियन बच्चे विस्थापित हुए हैं.

UN रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में यूनिसेफ के वित्तपोषण अपील ($ 3.6 बिलियन) की 84 प्रतिशत (3 बिलियन डॉलर) दी गयी. सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में सीरिया, इराक, यमन, नाइजीरिया, दक्षिण सूडान और डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफिस कांगो शामिल है. जहाँ बच्चों की हालत बद से बदतर है.

UNICEF के आपातकालीन कार्यक्रमों के निदेशक मैनुअल फॉन्टेन के मुताबिक, “आपातकालीन परिस्थितियों में रहने वाले 117 मिलियन लोगों को पीने के लिए साफ़ पानी भी नहीं मिल रहा है. कई देशों में बच्चे भूख-प्यास से झूझ रहे है. ज़्यादातर बच्चों को गंदे पानी पीने और गंदे इलाकों में रहने से भयंकर बिमारी फ़ैल रही है जिससे कई मासूमों ने अपनी जान गवाई है.

source: AFP

इराक में 4.1 मिलियन बच्चे, यमन में 11.3 मिलियन, सीरिया में 5.3 मिलियन और पड़ोसी देशों में 11 मिलियन सीरिया मानवतावादी सहायता की ज़रूरत है. UNICEF ने यह कहा कि फिलिस्तीन के 1.1 मिलियन बच्चों को भी मानवीय सहायता की जरूरत है.

इस बीच, पूर्वोत्तर में फिलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए UN राहत और वर्क्स एजेंसी (UNRWA) ने सीरिया और फिलिस्तीन के लिए राहत और खाद्य सहायता का सामान भेजना जारी रखा है. लगभग 1 मिलियन फिलीस्तीनी शरणार्थियों आपातकालीन खाद्य सहायता पर निर्भर हैं.

UN रिपोर्ट के मुताबिक, गाज़ा में 924,310 फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों और वेस्ट बैंक में 255,000 फिलीस्तीनियों को UNWRA आपातकालीन खाद्य सहायता दी जा रही है. 438,000 फिलीस्तीनियों सीरिया में है, जिनमें से 95 प्रतिशत को मानवतावादी सहायता की सक्त ज़रूरत है.

UNWRA के मुताबिक, सीरिया से 120,000 से ज्यादा फिलीस्तीनी शरणार्थियों ने देश से चले गए है.