Home कनाडा अबू-धाबी के नंबर 1 भारतीय एम्प्लोयी की कनाडा में हुई मृत्यु

अबू-धाबी के नंबर 1 भारतीय एम्प्लोयी की कनाडा में हुई मृत्यु

कनाडा- दुबई के नंबर 1 गवर्नमेंट एम्प्लोयी 82 वर्षीय अल्फ्रेड सिल्वेस्टर की कनाडा में मौत हो गयी. सिल्वेस्टर ने दुबई कोर्ट में तीन दशक तक काम किया और वह हमेसा रोलेक्स की घड़ी पहने हुए रहते थे, जो की उन्हें 1968 में अमेरिका के पहले राष्ट्रपति द्वारा तौहफे में भेंट की गई थी, यह घड़ी उन्होंने अपनी मृत्यु से पहले भी पहनी थी. सिलवेस्टर का काम गैर-अरब देशों के साथ शेख जायद के सभी आधिकारिक और निजी पत्राचारों पर विचार करना था.

अपनी नौकरी के दौरान, उन्होंने एलिजाबेथ और भारतीय प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी सहित विभिन्न देशों के राज्यों के प्रमुखों को पत्र लिखा, जिस पत्र को उन्होंने तैयार किया वह अरबी भाषा में लिखा हुआ था, इसके कंटेंट के सत्यापन के बाद शेख जयाद द्वारा इस पर हस्ताक्षर कर लिया गए थे.

सिल्वेस्टर को 2004 में पोप द्वारा बेनेमेरेंती मैडल से सम्मानित किया गया, सिल्वेस्टर की मृत्यु 8 दिसम्बर को टोरंटो में हुई, जहां वह अबू धाबी के प्रेसिडेंटीअल कोर्ट से रिटायरमेंट के बाद अपनी बड़ी बेटी के साथ रहते थे.

निमोनिया होने की वजह से सेल्वेस्टर की मृत्यु टोरंटो के स्थानीय हॉस्पिटल में हो गयी,  उनकी मृत्यु के बाद दुबई और शारजाह में शोक सभा आयोजित की गई, उन्होंने पहली बार लेबनान की फर्म अल्बर्ट एबाला के लिए काम किया था.