Home एशिया पाकिस्तान समेत कई देशों में सैन्य अड्डे बनाने की फ़िराक में चीन

पाकिस्तान समेत कई देशों में सैन्य अड्डे बनाने की फ़िराक में चीन

अमेरिकी रक्षा विभाग ने अपनी एक रिपोर्ट में चिंता जताते हुए कहा कि चीन पाकिस्तान में सैन्य अड्डा बनाने की योजना पर काम कर रहा है। और साथ ही कई मित्र देशों में सैन्य अड्डा बनाने के फिराक़ में है जो चिंता जनक है।

पेंटागन ने हाल ही में 97 पन्नों की एक रिपोर्ट अमेरिकी संसद को सौंपी है जिसमें कहा गया है कि चीन हिन्द महासागर, भूमध्य सागर और अटलांटिक महासागर तक अपनी सैनिक पहुंच बनाने के इरादे से पाकिस्तान में सैन्य अड्डा स्थापित करने की योजना पर काम कर रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन विदेशों में ज्यादा से ज्यादा अपना सैनिक अड्डा बनाने की कोशिशों में जुटा है। इसके तहत चीन उन देशों में सैन्य अड्डा बनाने की कोशिशों में जुटा है जिनसे उनके रिश्ते अच्छे हैं।

मंगलवार को जारी पेंटागन की रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की इस कोशिश से भारत के लिए सामरिक चुनौती बढ़ जाएगी। जिबूटी में स्थापित चीनी नौसैनिक अड्डे से भारत की भी चिंता बढ़ी हैं। दरअसल, जिबूटी की भौगोलिक स्थिति बहुत अहम है। यह हिंद महासागर के उत्तर-पश्चिमी किनारे पर बसा हुआ है, वहां से भूमध्य सागर और हिन्द महासागर तक चीन आसानी से पहुंच बना सकता है।

अमेरिकी रक्षा विभाग की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, चीन विदेशी बंदरगाहों तक अपनी पहुंच को मजबूत बनाने की कोशिश में है ताकि वो माल ढुलाई के साथ-साथ समंदर में अपनी सैन्य उपस्थिति मजबूत कर सके। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन हिन्द महासागर, भूमध्य सागर और अटलांटिक महासागर में सैनिक उपस्थिति मजबूत करना चाहता है। ताकि किसी भी परिस्थिति से वो निपट सके।