Home अरब देश सऊदी अरब ने उमराह के नाम पर देश में अवैध रूप से...

सऊदी अरब ने उमराह के नाम पर देश में अवैध रूप से काम कर रहे प्रवासियों को दिखाया बाहर का रास्ता

सऊदी अरब के अधिकारियों ने उमराह के नाम पर देश में अवैध रूप से काम करने आये प्रवासियों को देश से निकाल दिया है. सऊदी अरब ने इंडोनेशिया से आये 200 ऐसे प्रवासियों को अपने देश से बाहर भेज दिया है जो उमराह वीज़ा पर सऊदी अरब में आये और अलग-अलग जगहों पर काम कर रहे थे.

इन निर्वासित तीर्थयात्रियों ने कथित तौर पर सऊदी अरब के विभिन्न शहरों में काम करके अपने उमराह वीज़ा का दुरूपयोग किया. कानून और मानवाधिकार मंत्रालय के आव्रजन प्रवक्ता अन्गुंग सम्पुर्नो ने कहा कि जून 2016 से जुलाई 2016 के बीच 286 इंडोनेशियाई लोग सऊदी अरब में उमराह करने गए जिनमें से 86 लोग ही घर लौटे हैं.

उमराह के लिए वीज़ा की अवधि केवल 30 दिनों तक वैध है. अर्थात 200 से ज्यादा तीर्थयात्री अपने वीज़ा की अवधि ख़त्म होने के बाद भी सऊदी अरब में अवैध रूप से ठहरे हुए हैं. अगुंग ने बताया कि 200 लोगों का पता लगा कर उन्हें सऊदी अरब से वापस भेज दिया गया है. वे जावा और नुसा तेंगारा के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े हुए थे.

ये संदेहजनक है कि सऊदी अरब में इतने महीनो तक अवैध प्रवास के दौरान उन्होंने किसी उचित प्रक्रिया का पालन किये बिना वहां काम किया. उन्होंने सिर्फ एक प्रक्रिया का पालन किया जिसमें उन्होंने किसी गारंटर को अपने लिए चुना और इसके बाद उनकी भर्ती प्रक्रिया को एक कंपनी ने संभाला. इस कंपनी की पहचान पीटीएक्स के रूप में हुई है.

अन्गुंग ने ऐसे मामलों की पुनरावृत्ति न होने देने के लिए आव्रजन कार्यालयों से विदेश विशेषकर मध्य पूर्व के देशों में जाने वाले लोगों के लिए नियम कठिन करने की बात कही है. आप्रवासन कार्यालय के आंकड़ों से पता चलता है कि जनवरी से मार्च तक, 1,300 संदिग्ध पासपोर्ट आवेदनों को रोक दिया गया था और 300 इंडोनेशियाई को निलंबित कर दिया गया था.