Home अरब देश मानवता का क़त्ल करने वालों को माफ़ नहीं किया जा सकता :...

मानवता का क़त्ल करने वालों को माफ़ नहीं किया जा सकता : मुस्लिम वर्ल्ड लीग

source: Al Arabiya

सऊदी स्थित मुस्लिम वर्ल्ड लीग के प्रमुख, डॉ मोहम्मद अलिसा, अंतर्राष्ट्रीय होलोकॉस्ट रिमेम्बरेंस डे के अवसर पर “सामूहिक हत्या” के शिकार हुए लोगों के लिए महान सहानुभूति व्यक्त की. ऐसी घटना जो मानवता को हिलाकर रख दे और इस अपराध को कोई छिपा या मिटा नहीं सकता है.

आपको बता दें कि डॉ. अलिसा, महासचिव मुस्लिम वर्ल्ड लीग और मुस्लिम विद्वानों के अंतर्राष्ट्रीय संगठन के अध्यक्ष हैं.

उन्होंने यूएस होलोकॉस्ट मेमोरियल संग्रहालय के निदेशक सारा ब्लूमफील्ड को एक आधिकारिक पत्र में टिप्पणी की जो 22 जनवरी 2018 को ईमेल के माध्यम से भेजा गया था.

पत्र में उन्होंने कहा कि, “बुरे नाज़ीवाद द्वारा किये गए इस मानव त्रासदी को इतिहास भी कभी नहीं भुल पाएगा. आपराधिक नाजियों या उनकी शैली को छोड़कर, किसी के अनुमोदन को पूरा नहीं किया जाएगा. सच्चा इस्लाम इन अपराधों के खिलाफ हैं. मानवता को मौत के घाट उतारने वालों को किसी भी हालत में बक्शा नहीं जाना चाहए.

‘इतिहास को बिगाड़ने के लिए किये जाते है ऐसे अपराध’

डॉ. अलिसा ने कहा कि मुस्लिम विश्व लीग ने “किसी भी तरह के प्रलोभन से इनकार नहीं किया है. इतिहास को खराब करने के लिए इस तरह के अपराधों को अंजाम दिया जाता है और उन बेगुनाह लोगों की गरिमा का अपमान किया जाता है. यह हम सभी के लिए अपमान भी है क्योंकि हम एक ही मानव आत्मा और आध्यात्मिक रिश्ता साझा करते हैं.”

उन्होंने कहा कि, मुस्लिम वर्ल्ड लीग पूरी तरह से किसी भी राजनीतिक उद्देश्य, प्रवृत्ति, या अन्यथा से आज़ाद है. यह अपनी राय किसी भी राजनीति के साथ नहीं जोड़ता. यह मामलों को बिना किसी का बचाव और पक्ष के साथ देखता है. उन्होंने कहा कि इस्लाम में कहा गया की अगर कोई शख्स एक इंसान की हत्या कर दे तो तह समझलो की उसने पूरी कायेनात की हत्या कर दी हो.

डॉ. अलिसा ने कहा कि, “इस्लाम लंबे सदियों से सभी धर्मों के साथ जुड़कर इस्लाम को मानने वालो की इज्ज़त करता आया है. हम यह भी जानते हैं कि हर धर्म के कुछ एतिहासिक राजनीतिक नारे हैं, जो अपना फायदा उठाने के लिए धर्म का सहारा लेते है और बेगुनाहों को मौत के घाट उतारते है.