पाकिस्तान की नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने सभी मुस्लमानो से इस्लाम के सच्चे सन्देश का आदर करने का आग्रह किया हैं. बुधवार को यूनाइटेड अरब अमीरात में एक स्पीच के दौरान उन्होंने कहा कि मैं सभी मुस्लमानो से आग्रह करती हूँ, कि इस्लाम के सन्देश का आदर करे और अपने-अपने देशो में युद्ध के खिलाफ एकजुट हो जाये.

मलाला जोकि सार्वजनिक रूप से लड़कियों के लिए शिक्षा की वकालत करती हैं और बच्चो के लिए एक नॉन गवर्मेंटल संस्था चलाती हैं ने दुनिए भर के मुस्लमानो से एकजुट होने का आग्रह किया हैं और इस्लाम के सच्चे सन्देश का पालन करते हुए शांति कायम करने के लिए कहा हैं.

दुबई के शारजाह में मध्यपूर्व में महिलाओं के भविष्य पर आधारित इस सम्मलेन में मलाला ने सीरिया, इराक और यमन को संज्ञान में लेते हुए कहा कि “हमको नहीं भूलना चाहिए जो इन देशो में संघर्ष चल रहा हैं उसमे मुसलमान बड़ी संख्या में प्रभावित हो रहे हैं.”

“इस समय मैं मोसुल शहर के उन 5,00,000 बच्चो के बारे में सोचने से रुक नहीं सकती जिनको मानव ढाल के लिए इस्तेमाल किया जा सकता हैं.”

मलाला को 2014 में संयुक्त रूप से भारत के सामाजिक कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी के साथ, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. इस सम्मलेन के दौरान कैलाश ने भी सभी मुस्लमानो से ऐसा ही आग्रह किया हैं.

Web-Title: Malala Yusufzai gives speech in UAE, urged muslim to unite

Key-Words: Malala, UAE, Speech, Muslim, Unite, Islam, Message

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here