Home अरब देश जानिये सऊदी अरब से जुड़ी कुछ ख़ास और दिलचस्प बातें

जानिये सऊदी अरब से जुड़ी कुछ ख़ास और दिलचस्प बातें

दुनिया भर के लोग सऊदी अरब को कुछ ही बातों के लिए जानते हैं. अधिकतर लोगों की नज़र में सऊदी अरब शेइखों का देश है, वहां तेल के भण्डार हैं, रेगिस्तान है और मुस्लिमों का पवित्र तीर्थस्थल मक्का मदीना भी सऊदी अरब में है. पर आज हम आपको बताते हैं सऊदी अरब के बारे में कुछ और रोचक बातें.

सऊदी अरब में 25 साल से कम उम्र के युवाओं की संख्या कुल आबादी की आधी है. हर 4 में से 3 सऊदी 35 साल से कम उम्र का है. सऊदी में महिलाओं से ज्यादा संख्या पुरुषों की है। पुरुष और महिला का अनुपात 1.37 है.

सऊदी अरब के बुनियादी कानून का आर्टिकल 1 इस बात पर जोर देता है कि पवित्र ग्रंथ कुरान और पैगंबर मोहम्मद ही उसके संविधान हैं. यह देश वास्तव में शरियत कानून के मुताबिक चलता है.

सऊदी अरब में महिलाओं को कार चलाने की आजादी नहीं है। हालांकि, हाल के कुछ वर्षों में स्थानीय महिला सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इसे लेकर प्रदर्शन किया है। इनमें से कुछ को मुकदमे का सामना करना पड़ा है और यह बैन अभी भी नहीं हटा है.

इस्लाम में मक्का और मदीना को दो पवित्र शहर माना जाता है और गैर-मुस्लिमों को यहां आने की इजाजत नहीं है. हर साल यहां दुनियाभर से बड़ी संख्या में मुस्लिम तीर्थयात्री आते हैं. सऊदी अरब इस यात्रा के लिए हर देश को स्पेशल कोटा देता है जिससे यहां आने वालों की संख्या को नियंत्रित किया जा सके.

सऊदी अरब दुनिया का आखिरी ऐसा देश है जिसने महिलाओं को वोट डालने की आजादी दी. 2011 में, शेख अब्दुल्ला ने आदेश देकर म्युनिसिपल इलेक्शन में महिलाओं के वोट डालने का रास्ता तैयार किया.

इसमें कोई हैरानी नहीं कि सऊदी अरब जैसे देश में अगर पूरी धरती का सबसे सूखा स्थान मिल जाए. रब अल खली, दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तानी इलाका है। यह 250,000 स्क्वेयर मील तक फैला हुआ क्षेत्र है. यह सऊदी अरब के बड़े इलाके तक फैला हुआ क्षेत्र है और दुनिया का सबसे सूखा क्षेत्र है.

सऊदी अरब में पानी दुर्लभ चीज है और इसीलिए यह यहां बेहद कीमती भी है. सऊदी अरब में एक्वीफर्स पानी का बड़ा स्रोत हैं. ये अंडरग्राउंड बनाए गए बेहद बड़े जलाशय हैं. जल का एक दूसरा बड़ा स्रोत समुद्र है. सऊदी अरब समुद्र के पानी को पीने लायक बनाकर इस्तेमाल करता है.

सऊदी अरब में कोई बड़ी नदी या झील नहीं है और यहां बेहद कम बारिश होती है. सऊदी अरब दुनिया में सबसे ज्यादा तेल प्रड्यूस करने वाले देशों में से है. इसलिए यह जानकर आपको आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि सऊदी अरब में एक गैलन पानी एक गैलन तेल से ज्यादा महंगा है.

2012 में, सऊदी अरब ने सरकारी दफ्तरों और अधिकतर सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पर बैन लगा दिया. सऊदी अरब के आंकड़े बताते हैं कि देश के आम लोग औसतन 8 डॉलर हर रोज सिगरेट पर खर्च करते हैं.

सऊदी अरब के कारों के शौकीनों ने एक अलग तरह का खेल ईजाद किया है जिसका नाम साइडवॉक स्कीइंग है. इसमें मोटर कार को उसके एक तरफ के पहियों पर खड़ा कर खेल खेला जाता है. रियाद ऊंट बाजार दुनिया का सबसे बड़ा ऊंट बाजार है. यहां हर रोज लगभग 100 ऊंट बिकते हैं.

गैर-मुस्लिमों को सऊदी नागरिकता की इजाजत नहीं है. देश में गैर-मुस्लिम अपनी पूजा पद्दति को नहीं अपना सकते हैं. देश में गैर-मुस्लिम धर्म का प्रदर्शन अपराध है. होमोसेक्शुऐलिटी भी देश में जुर्म है. सऊदी अरब दुनिया का एकमात्र देश है जहां गला काटना, अंगविच्छेद कर देना और पत्थर मारने की सजा दी जाती है. इसे देश में गैरकानूनी नहीं माना गया है.

देश में अकेली महिला, चाहे वह स्थानीय हो या विदेशी- उसे अजनबी पुरुष के साथ जाने की इजाजत नहीं है. सरकारी जगहों पर हवाईअड्डों की तस्वीर लेने की सख्त मनाही थी. आज भी अगर आप सऊदी अरब में ऐसा करते हैं तो कुछ लोगों या पुलिसवालों द्वारा मुसीबत में पड़ सकते हैं क्योंकि बहुत लोगों को बदल दिए गए कानून की जानकारी नहीं है.

सऊदी अरब में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बनकर तैयार हो रही है. अतुलनीय किंग्डम टावर 3,280 फीट (एक किलोमीटर से भी लंबी) दुनिया की पहली इमारत होगी. इस टावर में एक होटल, ऑफिस होंगे. यह नए जमाने की इंजीनियरिंग को नए स्तर तक लेकर जाएगी.

सऊदी अरब में गैर-मुस्लिम महिलाओं को सर से पैर तक खुद को ढकने की जरूरत नहीं है. हालांकि, 2001 में देश में स्थित अमेरिकी मिलिटरी बेस में महिलाओं को ऐसी ड्रेस पहनने का आदेश दिया गया. मार्था मैकसैली, एक हाई रैंक यूएस फाइटर पायलट थी. उन्होंने इस आदेश पर अमेरिका के रक्षा सचिव डोनाल्ड रम्सफील्ड पर केस किया. मैकसैली ने यह केस जीत भी लिया. उसी वक्त से यूएस सर्विसविमिन को हैडस्कार्फ पहनने से छूट मिल गई.

सऊदी इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी अथॉरिटी, मोडोन को देश को बाकी आधुनिक दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलते देखने के मकसद से एक आधुनिक शहर बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. इस शहर में सिर्फ महिलाएं ही रहेंगी. जो पूरी आजादी और मनचाहा काम कर सकती हैं. यहां महिलाएं कड़े इस्लामी कानून को तोड़े बिना मनचाहा काम करने के लिए पूरी तरह आजाद होंगी.

सऊदी अरब में मृत्यु की सजा आम है. मृत्युदंड देने के मामले में दुनिया में सऊदी का नंबर चौथा है. देश में गर्दन काटकर मृत्यु देने की सजा सबसे आम है लेकिन बड़ी संख्या में इस सजा के चलते देश में सजा देने वालों की कमी हो गई है और देश किसी दूसरे तरीके पर विचार कर रहा है.

सऊदी अरब में दशकों तक महिलाओं को काम करने की मनाही रही है. लॉन्जरी शॉप में पुरुष ही महिलाओं को सामान दिखाते रहे. लेकिन 2012 की शुरुआत में मर्दों को महिलाओं के सामान वाली दुकानों पर मर्दों के काम करने की मनाही हो गई.

सऊदी अरब में जादू या टोने पर पूरी तरह प्रतिबंध है. देश में एक स्पेशल पुलिस यूनिट है जो जादूगरों को ही पकड़ने का काम करती है. ऐसा करना देश में एक बड़ा अपराध है और इसकी सजा गर्दन काटने के रूप में दी जाती है. यही वजह थी कि देश में हैरी पॉटर पर बैन लगा दिया गया था.