Home अरब देश किंग सलमान ने बताई अपनी सरकार की प्राथमिकताएं

किंग सलमान ने बताई अपनी सरकार की प्राथमिकताएं

source- saudi gazzet

सऊदी अरब के दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन किंग सलमान ने आने वाले साल के लिए अपने वार्षिक भाषण के दौरान अपनी सरकार की प्राथमिकता दर्शायी. उनकी प्राथमिकताओं में उन्होंने भ्रष्टाचार से निपटने, देश की अर्थव्यवस्था पर सुधार और आतंकवाद से लड़ने की प्रक्रिया को शामिल किया.

किंग की प्राथमिकताएं 

किंग ने शॉरा परिषद के 7 वें सत्र के दूसरे साल का उद्घाटन करते हुए कहा की “हमने अल्लाह की मदद से न्याय और निर्णायकता से भ्रष्टाचार का सामना करने का फैसला लिया, जिससे हमारा देश विकास का आनंद लें, जो की प्रत्येक नागरिक की इच्छा है.
किंग ने कहा की “हमारा आदेश था की हम क्राउन प्रिंस के नेतृत्व में भ्रष्टाचार को मुक्त करने के लिए एक समिति बनाये और हमने समिति बनाकर देखा की इसमें कई भ्रष्ट लोग मिले जिन्हें गिरफ्तार किया गया और गिरफ्तार हुए लोगोने में कुछ नेता, राजकुमार, मंत्री, व्यवसायी, कर्मचारी और श्रमिक शामिल थे. उन्होंने यह भी कहा कि सऊदी अरब विकास के क्षेत्र में निजी क्षेत्र बनने के लिए सक्षम होगा.

उन्होंने कहा की “हम विकास के लिए अपने योगदान को बढ़ाने के लिए निजी क्षेत्र को सशक्त बनाएंगे और प्रोत्साहित करेंगे “हम निजी क्षेत्र की भूमिका को विकास में एक महत्वपूर्ण सहयोगी, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के लिए समर्थन, पुरुष और महिला युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करेंगे.”

भाषण में, राजा सलमान ने आर्थिक मुद्दों पर कहा की देश विजन 2030 के तहत आर्थिक सुधारों के साथ राजस्व के नए स्रोतों को खोजने की योजना बना रहा है, “विजन के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए, कुछ सरकारी एजेंसियों को पुनर्गठन किया गया है और समाज के हितों की सेवा, राज्य की सुरक्षा को मजबूत करने, भ्रष्टाचार का मुकाबला करने और राष्ट्रीय विकास में पुरुष और महिला नागरिकों की भागीदारी में वृद्धि के लिए कई फैसले किए गए हैं”

राजा सलमान ने कहा की “देश विकास और आधुनिकीकरण के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है, उन्होंने कहा की सऊदी अरब क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों में एक प्रभावशाली भूमिका निभाता है, और देश आतंकवाद का मुकाबला करने और वित्तपोषण के साधनों के मुकाबले में एक प्रमुख भूमिका निभाता रहेगा.”

जेरुसलम इजरायल की राजधानी घोषित करने के अमेरिकी निर्णय पर, राजा ने कहा, की “पूर्वी जेरुसलम पर फिलिस्तीनियों का अधिकार है

“राज्य ने क्षेत्रीय संकटों को हल करने के लिए एक राजनीतिक समाधान की मांग की है, जिनमें से सबसे महत्वपूर्ण यह है कि फिलिस्तीनी मुद्दे और फिलिस्तीनी लोगों के वैध अधिकारों की बहाली, जिसमें पूर्व जेरुसलम के साथ अपनी स्वतंत्र राजधानी स्थापित करने का अधिकार शामिल है.

राजा सलमान ने यह भी कहा था कि सऊदी अरब अपने सहयोगियों के साथ आंतरिक मामलों में बाहरी हस्तक्षेप के लिए किसी भी प्रवृत्ति का सामना करने और क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को कम करने के लिए काम कर रहा है.

डिप्टी प्रीमियर और रक्षा मंत्री प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान, शेख अब्दुल अजीज अल-आसिख, शॉरा काउंसिल के अध्यक्ष शेख अब्दुल्ला अल-आसिच, प्रिंस अब्दुल अजीज बिन सौदी सहित कई राजकुमार, मंत्री और सदस्यों ने शॉरा काउंसिल के समारोह में भाग लिया.