Home अरब देश किंग सलमान ने जनाद्रिया उत्सव में किया भारतीय पवैलियन और एमआईएसके चैरिटी...

किंग सलमान ने जनाद्रिया उत्सव में किया भारतीय पवैलियन और एमआईएसके चैरिटी का उद्घाटन

सौजन्य से- सऊदी गेजेट

दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन किंग सलमान ने बुधवार की शाम के दौरान रियाद के पास जनाद्रिया गांव में एमआईएसके(MiSK) चैरिटी, ऊर्जा, उद्योग और खनिज संसाधन मंत्रालय के साथ-साथ भारत के पैवेलियन का उद्घाटन किया.

किंग सलमान का एमआईएसके चैरिटी के पैवेलियन तक पहुंचने पर, एमआईएसके चैरिटी के सचिव जनरल बद्र अल-असकर और अन्य अधिकारियों द्वारा स्वागत किया गया.

किंग सलमान ने पुरे पैवेलियन का दौरा किया और जहाँ उन्हें शिक्षा, प्रौद्योगिकी, नवाचार, संस्कृति, कला और रचनात्मक और तकनीकी मीडिया के क्षेत्र में युवाओं और महिलाओं के सशक्तिकरण के दायित्व की जानकारी दी गयी. इसके बाद, राजा ऊर्जा, उद्योग और खनिज संसाधन मंत्रालय के पैवेलियन में जा पहुंचे जहां किंग सलमान की मुलाकात मंत्री खालिद अल-फ़लह और कई अधिकारियों से हुई, इसके बाद किंग सलमान ने सऊदी अरामको, सऊदी बिजली कंपनी की प्रदर्शित परियोजनाओं को भी देखा. जहाँ  (एसईसी), परमाणु और नवीकरणीय ऊर्जा के लिए किंग अब्दुल्ला शहर, जुबैल और यानबु के लिए रॉयल कमिशन, सऊदी मूल इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन (एसएबीआईसी), सऊदी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण, माडेन कं, किंग अब्दुलअजिज सिटी साइंस एंड टैक्नोलॉजी, सऊदी औद्योगिक विकास निधि, किंग अब्दुल्ला सेंटर फॉर पेट्रोलियम रिसर्च एंड स्टडीज, नेशनल प्रोग्राम फॉर डेवेलपमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल क्लस्टर्स, सऊदी एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथॉरिटी, और सऊदी औद्योगिक संपदा प्राधिकरण (मॉोडॉन) शामिल था.

सौजन्य से- सऊदी गेजेट

इसके बाद किंग सलमान ने सकाका सौर परियोजना के लिए एसीडब्ल्यूए पावर और एसईसी के बीच ऊर्जा खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किया, इसके बाद किंग सलमान भारतीय पैविलियन में गए जहां भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज , अहमद जावेद और अन्य कई अधिकारीयों ने उनका स्वागत किया.

सौजन्य से- सऊदी गेजेट

इसके बाद किंग सलमान ने ना सिर्फ तस्वीरों को देखा, जिनमे भारत और सऊदी अरब के रिश्तों की मजबूती की कलाकृति की गयी थी.

सौजन्य से- सऊदी गेजेट

भारतीय पवैलियन में भारत के कई पर्यटन स्थलों के साथ-साथ सांस्कृतिक, सामाजिक और पारंपरिक प्रदर्शन भी दिखाए गए जो कि भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत को दर्शाते हैं.

सौजन्य से- सऊदी गेजेट

इस पवैलियन में भारतीय इत्र, बुनाई, अरबी सुलेख और पांडुलिपियों के लिए कोनों, कई किताबों के साथ रियाद में दूतावास की इमारत, एक योग कॉम्पलेक्स और भारतीय उद्योगों (मेक इन इंडिया) की एक प्रदर्शनी शामिल थी, जिसमें कुछ मोटर वाहन, अंतरिक्ष और उपग्रह उद्योग, भोजन और शस्त्र उद्योग, साथ ही थिएटर जहां कुछ भारतीय लोक नृत्यों का प्रदर्शन किया गया था.

सौजन्य से- सऊदी गेजेट