Home अरब देश रियाध में 50 इस्लामिक देशों को शांति का पाठ पढ़ाएंगे डोनाल्ड ट्रम्प

रियाध में 50 इस्लामिक देशों को शांति का पाठ पढ़ाएंगे डोनाल्ड ट्रम्प

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने पहले विदेशी दौरे के दौरान सऊदी अरब के रियाध की यात्रा करने की घोषणा करके दुनिया भर के तमाम इस्लामिक देशों को दंग कर दिया है. इस पर भी हैरान कर देने वाली बात यह है कि रियाध में ट्रंप दुनिया के 50 से ज्यादा इस्लामिक देशों के नेताओं को संबोधित करेंगे.

व्हाइट हाउस ने बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रियाध में इस्लाम पर भाषण देंगे. इसके बाद वह सऊदी अरब से इस्राइल और फिर वेटिकन सिटी के लिए रवाना होंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से ही मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलने वाले ट्रंप की इस घोषणा से पूरा मुस्लिम जगत हैरान है. ट्रंप ने चुनाव के दौरान मुसलमानों के खिलाफ सिर्फ बयानबाजी ही नहीं की, बल्कि राष्ट्रपति बनने के बाद अपने चुनावी बयानों को लागू करने के लिए सख्त कदम भी उठाए.

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एचआर मैकमास्टर का कहना है कि रियाध में ट्रंप आतंकवाद, कट्टरपंथ और हिंसा से लड़ने के लिए इस्लाम के शांति विजन को पेश करेंगे. अमेरिका को उम्मीद है कि इस दौरान आतंकवाद और कट्टरपंथ से निपटने के लिए कोई ठोस रूपरेखा भी तैयार की जा सकती है. ट्रंप इन मुस्लिम देशों को सिर्फ इस्लाम पर उपदेश ही नहीं देंगे, बल्कि इनके साथ परस्पर बातचीत और भोजन भी करेंगे. व्हाइट हाउस ने बताया कि ट्रंप रियाध में 50 से ज्यादा देशों के नेताओं से मुलाकात करेंगे और उनके साथ लंच करेंगे.

ज्ञात हो कि अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के फौरन बाद डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया, सूडान, इराक, ईरान, सोमालिया, यमन और लीबिया के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था. साथ ही अमेरिका में लंबे समय से रह रहे मुस्लिमों की निगरानी भी शुरू करा दी थी. इसका अमेरिका समेत दुनिया भर में खासा विरोध हुआ. हालांकि ट्रंप किसी भी कीमत पर झुकने को तैयार नहीं हुए. आखिरकार अमेरिका की अदालतों को ट्रंप के इस आदेश पर रोक लगानी पड़ी, जिसके बाद मुसलमानों ने राहत की सांस ली.

दूसरी ओर सऊदी अरब में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के रियाध दौरे को लेकर तैयारियां जोरशोर से चल रही हैं. ट्रंप की यात्रा को लेकर सऊदी में उलटी गिनती शुरू हो गई है. ट्रंप के दौरे की जानकारी को लेकर सऊदी ने चार भाषाओं में वेबसाइटें लांच की हैं. शनिवार को अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहले सऊदी के किंग सलमान बिन अब्दुल अजीज से मुलाकात करेंगे. इसके बाद मध्य पूर्व, अफ्रीका और एशिया से आने वाले इस्लामिक नेताओं के समिट में हिस्सा लेंगे. सऊदी अमेरिका का बड़ा सहयोगी माना जाता है. सऊदी के विदेश मंत्री ने कहा कि ट्रंप की पहली विदेश यात्रा के तहत रियाध आना दोनों देशों के बीच मजबूत संबंधों को दर्शाता है.