Home अरब देश इस महिला पत्रकार की गिरफ्तारी सिर्फ पैंट पहनने के लिए हुई

इस महिला पत्रकार की गिरफ्तारी सिर्फ पैंट पहनने के लिए हुई

source-step feed

सूडान- इस महीने की शुरुआत में, खारतूम की एक पत्रकार, विनी ओमर को “असभ्य और अनैतिक कृत्यों” के आरोपों के लिए खारतूम की सड़कों पर गिरफ्तार किया गया था, उनका अपराध यह था की उन्होंने पैंट पहनी थी.

ओमर महिलाओं की एक प्राइवेट पार्टी में पैंट पहन कर गयी थी, पार्टी के दौरान पैंट पहनने के लिए ओमर पर अभद्रता का आरोप लगाया गया, जबकि पैंट पहनने वाली 24 और महिलाओं पर लगे आरोपों को हटाया गया था, परन्तु ओमर के लिए कार्यवाही कोर्ट ने 21 दिसम्बर तक पेंडिंग में रख दी थी.

न्यायाधीश ने ओमर को अब निर्दोष शाबित कर दिया है, यह फैसला तीन गवाहों द्वारा दिए गए सबूतों के बाद लिया गया, सूडान ट्रिब्यून न्यूज़ के मुताबिक अपने बयान में ओमर ने कहा की “वह एक “मुस्लिम है और वह अपने धर्म को अच्छी तरह जानता है”. उन्होंने कहा था की जो मैंने पहना था वो बेकार पोशाक नहीं था, लेकिन सभी लड़कियों द्वारा सार्वजनिक सड़क पर पहना जाने वाला एक ड्रेस है”. उन्होंने कहा की गिरफ्तारी के वक्त उसके सिर को आधा कवर किया गया था.

ओमर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया गया की जिसमें बताया गया कि जज ने गवाहों के बाद ओमर के कपड़ों को “सभ्य” पाया.

अपने वीडियो में, वह आर्टिकल 152 की आलोचना करती है जो कि “अनैतिक” या “अभद्र” कपड़े पहने और क़ानून बदलने में लोगों की भागीदारी होती है.

अमेरिकी दूतावास ने ओमर की गिरफ्तारी पर चिंता व्यक्त की और खारतुम को इस पर संशोधन करने के लिए कहा.

विदेश मंत्री इब्राहिम घन्दौर सहित कुछ सरकारी अधिकारियों ने “विवादास्पद कानून” में संशोधन करने की बात कही, गुरुवार को, 21 दिसंबर, खारटौम के दक्षिण के अल-डेम जिले में लोक आदेश कोर्ट के कमांडर कमल अल-दीन अल-जकी ने ओमेर पर लगे आरोपों को हटा दिया.

ओमर ने इस फैसले पर टिप्पणी करते हुए अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट शेयर की,  ओमर ने अपने देश में कानूनी प्रणाली के साथ अपनी हताशा व्यक्त की और अनुच्छेद 152 को हटाने के लिए अपील की.

उन्होंने कहा की “मैं दुखी हूं कि मैं एक ऐसे देश में हूं जो कानून के द्वारा हम पर मुकदमा करता है, मैं फिर से कहती  हूं, व्यक्तिगत स्वतंत्रता पर कोई समझौता नहीं होता है”.