Home यूनाइटेड स्टेट्स अमेरिका में हैक हुए अमीरात राजदूत के ईमेल, हुए कई चौंकाने वाले...

अमेरिका में हैक हुए अमीरात राजदूत के ईमेल, हुए कई चौंकाने वाले खुलासे

कुछ हैकर्स ने अमरीका में संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत के हैक किए गए ईमेल्स की पहली सीरीज़ मीडिया में जारी कर दी है. खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, ग्लोबल लीक्स नामक इस हैकर्स गुट द्वारा लीक किए गए यूएई के राजदूत यूसुफ़ अल-उतैबा के ईमेल्स कई बड़े रहस्योद्घाटन हुए हैं.

इन इमेल्स से अल-उतैबा और इस्राईल समर्थक नव रूढ़िवादी थिंक टैंक फ़ाउंडेशन फ़ॉर डिफ़ेंस ऑफ़ डेमोक्रेसीज़ (एफ़डीडी) के बीच संबंधों से पर्दा उठा है तो वहीं ईरान विरोधी अरब-इस्राईल-अमरीका के गठबंधन का ख़ुलासा हुआ है. इन ईमेल्स का बड़ा भाग ईरान की आंतरिक स्थिति को प्रभावित करने और क्षेत्र में ईरानी प्रभाव को ख़त्म करने की योजनाओं पर आधारित है.

हैक किए गए ईमेल्स में से कुछ वर्ष 2014 से संबंधित हैं, जो अरब देशों और एफ़डीडी के बीच ख़ुफ़िया सहयोग से पर्दा उठाते हैं. एफ़डीडी और अल-उतैबा के बीच आदान प्रदान हुए ईमेल्स से स्पष्ट होता है कि ज़ायोनी लॉबी एफ़डीडी और यूएई क़तर की छवि ख़राब करने का अभियान चला रहे हैं और मीडिया में ऐसे पत्रकारों को फ़ंड उपलब्ध करा रहे हैं जो क़तर और कुवैत को आतंकवाद का समर्थक साबित करें.

इस राज से पर्दा उठने से इस्राईल, सऊदी अरब और यूएई के बीच बढ़ते सहयोग का भी पता चलता है. ग़ौरतलब है कि उतैबा, वाशिंग्टन में और अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों के बीच एक जानी पहचानी हस्ती हैं और वे पेंटागन की महत्वपूर्ण बैठकों में भाग लेते रहे हैं.

शनिवार को लीक किए ईमेल्स में एफ़डीडी के वरिष्ठ सलाहकार जॉन हन्नाह उतैबा से क़तर के बारे में शिकायत करते हैं कि वह यूएई के एक होटल में फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधी आंदोलन हमास की एक बैठक का आयोजन कर रहा है.

उतैबा इस ईमेल के जवाब में लिखते हैं कि इसमें यूएई की कोई ग़लती नहीं, बल्कि असली समस्या क़तर में अमरीकी सैन्य अड्डे का होना है. यूएई के राजदूत ने आगे लिखा है कि यदि आप वहां से अपना सैन्य अड्डा हटा लें, तो हम होटल को स्थानांतरित कर लेंगे. लीक किए गए ईमेल्स में क़तर और मुस्लिम ब्रदरहुड के बीच के संबंधों को भी विशेष रूप से निशाना बनाया गया है.