Home यूनाइटेड स्टेट्स अमेरिका में 75 हजार भारतीयों की नौकरी है खतरे में

अमेरिका में 75 हजार भारतीयों की नौकरी है खतरे में

world news Arabia published date-03-Jan-2018 time-2:03

अमेरिका में हजारों की तादाद में भारतीय रहते हैं, जिनमे से अमेरिका की आईटी सेक्टर में लगभग 75 हजार भारतीय वहाँ नौकरी करते हैं, परन्तु अब इन भारतीयों की नौकरी पर खतरे के बदल मंडराते हुए नजर आ रहे हैं.

दरअसल ट्रम्प सरकार ने एक प्रस्ताव तैयार किया है, जो अमेरिकी नागरिको के हित में और आईटी में काम कर रहे भारतीयों के लिए यह किसी खतरे से कम नहीं है, ट्रम्प सरकार के इस प्रस्ताव के मुताबिक इस प्रस्ताव से एच 1 बी वीजा होल्डर प्रभावित होंगे, उनके वीजा रिन्यू नहीं किए जाएंगे,इन लोगों के ग्रीन कार्ड भी अभी सत्यापन की प्रक्रिया में लटके हुए हैं.

अगर यह प्रस्ताव अमेरिकी संसद द्वारा पास किया जाता है तो इससे लगभग 75 हजार भारतीयों को नुकसान हो सकता है.

दरअसल इस प्रस्ताव का उद्देश्य “अमेरिकी लोगों को नौकरी देना है, क्योंकि ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव से पहले भी और कई बार बाद में भी कहा की “अमेरिकियों की नौकरियों पर विदेशियों ने कब्जा जमा रखा है, उन्होंने नारा दिया था की ” बाई अमेरिकन, हायर अमेरिकन” इसका मतलब यह था की “अमेरिकी समान खरीदो और अमेरिकियों को ही नौकरी पर रखो”.

अमेरिका ने भारत-पाकिस्तान दोनों को ही झटका दिया है, जहां एक तरफ अमेरिका ने पाकिस्तान की आतंकवाद के खिलाफ कार्यवाही ना करने पर पाकिस्तान को अमेरिका द्वारा दी जाने वाली सहायता में कटौती की है तो वहीं यह प्रस्ताव रख कर भारतीयों को भी करारा झटका दिया है, अब इस फैसले पर भारतीय सरकार की प्रतिक्रिया देना बाकी है.