मानव अधिकार के यूरोपीय न्यायालय ने स्विट्जरलैंड के शिक्षा अधिकारियों के पक्ष में फैसला करते हुए आदेश दिए हैं कि मुस्लिम लड़कियों को भी लड़को के साथ ही तैराकी एक साथ सीखनी पड़ेगी. ये फैसला तुर्की के दो बच्चो के माता-पिता के अपने बच्चो को तैराकी के लिए भेजने के बाद आया हैं.

ये मामला साल 2010 का हैं. माता-पिता के इस ऑब्जेक्शन के बाद स्कूल के अधिकारियो ने उन पर स्कूल के नियम को तोड़ने पर जूर्मान लगाया था. लेकिन अब अदालत का फैसला आया तो वो भी स्कूल अधिकारियो के पक्ष में आया.

मंगलवार को हुई अदालत की सुनवाई में सात जजों के एक पैनल है जुर्माना करने के लिए समर्थन कर दिया था. अदालत का फैसला हैं कि स्कूल सामाजिक सामजिक एकता को कायम करने में एक बहुत बड़ा रोले अदा करता हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह करने के इच्छुक है तो रिश्ते के लिए लडकें/लड़कियों के फोटो देखें - फ्री रजिस्टर करें

Comments

comments

loading...