अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में हो रहे लगातार हमलों से देश दहला हुआ हैं. देश की राजधानी काबुल में संसद सहित अन्य तीन शहरो में हुए हमलो में करीब 50 लोग मारे गए हैं. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के राजदूत की अफगानिस्तान यात्रा के दौरान दक्षिण कंधार में गवर्नर के घर के भीतर सोफे में लगा बम फटने से कम से कम नौ लोग मारे गए हैं. हालांकि राजदूत कोई ज़्यादा नुकसान नहीं हुआ है.

वही बम विस्फोट से पहले संसद में एनेक्सी से निकल रहे कर्मचारियों को निशाना बनाकर हमला किया जिसमें कम से कम 30 लोग मारे गए और 80 लोग घायल हो गए. वही तीसरा धमाका हेलमंड प्रांत की राजधानी लश्कर गाह में तालिबान आत्मघाती हमलावर ने खुद को बम से उड़ा लिया जिसमे सात लोग मारे गए.

हालांकि इस हमले की ज़िम्मेदारी अभी तक किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली हैं लेकिन काबुल विस्फोटों के बारे में तालिबान का कहना है कि यह उसने किया है. पहले हमले में एक आत्मघाती हमलावर ने सरकारी कर्मचारियों को लेकर जा रही मिनी बस के पास खुद को विस्फोट में उड़ा लिया. जब बचावकर्मी मौके पर पहुंचे, तब तक वहां कार बम में विस्फोट हुआ.

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह ने चेतावनी दी है कि मृतकों की संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि अस्पताल में भर्ती कई घायलों की हालत बहुत गंभीर है.