सऊदी अरब का एक बहादुर पुलिस अधिकारी जिसने अपनी जान की चिंता ना करते हुए आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के दो आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया, सभी राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय मीडिया में इस मुठभेड़ में घायल हुए इस पुलिस अधिकारी चर्चा का चल रही हैं.

यूनाइटेड किंगडम के डेली मेल इस बहादुर पुलिस अधिकारी के बारे में लिखता हैं कि आतंकी हथियारों और मशीन गन से लैस थे इसके बावजूद पुलिस अदिकारी ने उनको अपनी पिस्तौल से गोली मारी, जो वाकई एक बहादुरी का कार्य हैं.

पुलिस अधिकारी जिब्रान जाबेर, जोकि शनिवार को हुए इस नाटकीय मुठभेड़ में घायल हुए हैं, का कहना हैं कि मुझको पता ही नहीं चला कि मुझको चोट लगी हैं. जाबेर इस समय अस्पताल में हैं. पूरे विश्व में उनकी प्रशंसा की जा रही हैं.

सऊदी अरब के दो सबसे वांटेड आतंकी तैया सलेम बिन यस्लाम अल-सायरी और सहयोगी तलाल बिन समरण अल-साइड को रोकने के लिए सऊदी नागरिक भी उनकी खूब प्रशंसा कर रहे हैं.

उल्लेखनीय हैं कि दो आतंकी हाउस ऑफ़ सऊदी में आतंकी हमले की कोशिश में थे, जिसके बाद सुरक्षा अधिकारियो ने उनको देखा और आतंकियों और पुलिस कर्मियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए.