मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरबिया की आर्थिक स्थिति तेल राजस्व में गिरावट आने के कारण लड़खड़ा रही हैं और साल 2020 तक सऊदी अरब बैंकरप्ट भी हों सकता हैं.

शायद इसी समस्या से निपटने के लिए सऊदी अरब सरकार मनोरंजन के क्षेत्र को देश में बढ़ावा दे रहा हैं. अमूमन पक्षिमी देशो में डांस बार में लड़कियों का डांस करना या शराब पीना एक साधारण सी बात हैं लेकिन मुस्लिम बहुल देश सऊदी अरब में इस तरह के कार्यो कर मनोरंजन करना वाकई हैरान करने वाला हैं.

हालाँकि आपको यहाँ न तो बार मिलेंगे ना ही डांस, ओपेरा और माइम डांस करती हुई महिलाएं नज़र आएंगे लेकिन हां आपको ऐसे कार्यक्रम अब देखने को मिलेंगे जहां पुरुष स्टेज पर नाचते दिखाई देगे.

रियाद की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले मोहम्मद अल-मावला ने कहा, “यह नया अनुभव है.” दरअसल किंग अब्दुल्लाह इकॉनमिक सिटी में कार्यक्रम आयोजित किया गया था. जिसको लेकर मावला ने कहा कि हम पसंद करेंगे कि सऊदी अरब में इस तरह के शो का आयोजन होता रहे.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी अरब सरकार ने देश की लगातार बिगड़ती इकॉनमी को सुधारने के लिए फन इंडस्ट्री को मजबूत करने का फैसला लिया है ताकि इसके जरिए राजस्व जुटाया जा सके. जिसके मद्देनज़र ही अल्ट्रा-कंजर्वेटिव समाज में म्यूजिक और मनोरंजन से जुड़े प्रतिबंधों को ढीला किया जा रहा है ताकि इसके जरिए ही कुछ रकम जुटाई जा सके.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अब तक लोग दुबई और बहरीन यात्रा करने पर ही कोई मूवी या शो देख पाते थे. लेकिन, अब सऊदी सरकार ने लोगों के फन को ही एक इंडस्ट्री के तौर पर तब्दील करने का फैसला लिया है. लेकिन इस बात की पुष्टि सऊदी की किसी भी आधिकारिक न्यूज़ से नहीं हुई हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह करने के इच्छुक है तो रिश्ते के लिए लडकें/लड़कियों के फोटो देखें - फ्री रजिस्टर करें

Comments

comments

loading...

अरब देशों में नौकरी करना चाहते है तो यहाँ क्लिक करें