लेबनान में हिज्बुल्ला के खिलाफ कार्रवाई को लेकर अमेरिकी सुरक्षा बल के दबाव के बीच संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने वहां शांति अभियान बढ़ा दिया है. यूएन इंटरिम फोर्स इन लेबनान (यूएनआईएफआईएल) के शासनादेश को लेकर अमेरिका के साथ वाद-विवाद के बाद परिषद ने बुधवार को सर्वसम्मति से फ्रांस के एक मसौदा प्रस्ताव का समर्थन किया. बता दें कि यूएनआईएफआईएल हिज्बुल्ला और इजरायल के बीच संघर्षविराम की निगरानी कर रहा है.

अपने मसौदे में फ्रांस ने कहा है कि यूएनआईएफआईएल दक्षिण लेबनान में शांति बनाए रखने में कामयाब रहा है, लेकिन अमेरिका इस मिशन पर हिज्बुल्ला आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर लगातार दबाव बना रहा है.

इस मु्द्दे पर मतदान के बाद अमेरिकी दूत निकी हेली ने सुरक्षा परिषद को बताया कि दक्षिण लेबनान में हालात बेहद खतरनाक हैं. वहां युद्ध के बादल मंडरा रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि यूएनआईएफआईएल युद्ध को दोबारा होने से रोकने में मदद के लिए है और समझा जाता है कि वह ऐसा ही करेगा.

इस मामले पर दिए गए प्रस्ताव में कहा गया है कि यूएनआईएफआईएल को उन इलाकों में तमाम जरूरी कार्रवाई करने का अधिकार है, जहां उसके सैनिक तैनात हैं. उसे यह सुनिश्चित करना है कि अभियान के किसी भी इलाके का इस्तेमाल किसी प्रकार की शत्रुतापूर्ण गतिविधि के लिए न हो.


Urdu Matrimony - अरब देशों में शादी करने के इच्छुक है तो यहाँ क्लिक करके फ्री रजिस्टर करें

Comments

comments

loading...

अरब देशों में नौकरी करना चाहते है तो यहाँ क्लिक करें