अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने माना हैं कि अमेरिका ने ही आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का गठन किया था. जिसका मुख्य लक्ष्य सीरिया से बशर अल-असद की सत्ता को हटाना था. ईरानी न्यूज़ एजेंसी की खबर के अनुसार उन्होंने कहा कि वाॅशिंग्टन ने इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए दाइश के गठन की अनुमति दी थी.

जाॅन केरी ने इस बात की ओर संकेत किया कि अमरीका को इस बात की आशा थी कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के गठन और उसके शक्तिशाली होने के बाद बशर अल-असद, अमेरिकी नीतियों को मानने और फिर सत्ता छोड़ने पर मजबूर हो जायेगे.

उन्होंने कहा कि अमरीका ने इन्हीं दो लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए दाइश के कुछ सदस्यों को सशस्त्र किया, लेकिन वाशिंगटन को इस बात का अंदाज़ा बिलकुल भी ना था कि रूस की सैन्य ताकत सीरिया के साथ चली जाएगी.

अमेरिकी विदेश मंत्री का कहना हैं कि इन्ही दो मुख्य लक्ष्यों का पीछा करते हुए आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का गठन किया गया था. वर्ल्ड न्यूज़ अरबिया ये न्यूज़ पार्स टुडे से ली हैं, अतः इसकी सत्यता की ज़िम्मेदारी WNA की नहीं हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह करने के इच्छुक है तो रिश्ते के लिए लडकें/लड़कियों के फोटो देखें - फ्री रजिस्टर करें

Comments

comments

loading...